केंद्र सरकार: अक्टूबर से NPS के नियमों में होगा बड़ा बदलाव, धनराशि जमा करने से पहले जानें नए नियन!

केंद्र सरकार

पीएफआरडीए (PFRDA) ने एनपीएस से अंतिम भुगतान लेने की तय समय सीमा को घटा दिया है। पीएफआरडीए की तरफ से पेंशन फंड्स कस्टोडियन ने एनपीएस के सिस्टम इंटरफेस में बदलाव किया है। इसके तहत विभिन्न लेनदेन की समय सीमा को कम करने के लिए अपनी सूचना प्रौद्योगिकी क्षमताओं को बढ़ाया है।

इस बदलाव के तहत अंशधारकों के निकासी अनुरोध टी+4 की बजाय टी+2 दिन कर दिए जाएंगे। यहां पर टी का तात्‍पर्य है अंशधारक ने ज‍िस द‍िन अनुरोध क‍िया। यानी अनुरोध के बाद दो दिन यानी कुल 3 द‍िन लगेंगे। पहले यह काम पांच दिन में होता था।

NPA से जुड़े नियमों में हुए बदलाव

नई व्यवस्था के तहत सीआरए से संबंध‍ित अनुरोध सुबह 10:30 बजे तक करने पर टी+2 आधार पर निपटाए जाएंगे। वहीं, केफिन टेक्नोलॉजीज लिमिटेड और सीएएमएस सीआरए से जुड़े अंशधारकों से सुबह 11 बजे तक मिले अनुरोधों का निपटान टी+2 के आधार पर किया जाएगा। इससे पहले भी एनपीएस से जुड़े नियमों में कई बदलाव क‍िए गए हैं।

एनपीएस के ई-नामांकन प्रोसेस में बदलाव किया गया है। नया नियम 1 अक्टूबर से लागू होगा। इसके तहत नोडल अधिकारी ई-नामांकन के आवेदन को स्वीकार या खारिज कर सकता है. यद‍ि आवेदन करने के 30 दिन तक नोडल अधिकारी ई-नामांकन पर फैसला नहीं लेता तो र‍िक्‍वेस्‍ट सेंट्रल रिकॉर्ड कीपिंग सिस्टम के जरिये स्वीकार की जाएगी।

कैसे बनाए डिजिटल सर्टिफिकेट

पहले एनपीएस के अंशधारकों को समय सीमा पूरा होने पर एक एग्जिट फॉर्म भरना जरूरी होता था. इसके साथ ही लाइफ इंश्योरेंस कंपनी में एन्युटी प्लान खरीदने के लिए भी फॉर्म भरना जरूरी था। लेक‍िन अब एग्जिट फॉर्म से ही एन्युटी प्लान का आवेदन क‍िया जा सकता है। इसल‍िए अब फॉर्म भरने की जरूरत नहीं होगी।

एनपीएस के पेंशनभोगी अब डिजिटल लाइफ सर्टिफिकेट भी जमा करा सकेंगे। यह आधार वेरिफिकेशन पर न‍िर्भर करेगा। इस काम को फेसआरडी ऐप से कर सकते हैं, जिसमें मोबाइल में ऐप डाउनलोड कर डिजिटल लाइफ सर्टिफिकेट बनवाया जा सकता है।

टियर-2 स‍िटी के खाताधारक अब एनपीएस अकाउंट में क्रेडिट कार्ड से पैसे जमा नहीं कर पाएंगे। इस न‍ियम को प‍िछले महीने ही लागू क‍िया गया है। हालांकि टियर-1 स‍िटी के खाताधारक खाते में क्रेडिट कार्ड से पैसे जमा कर सकते हैं।