शिक्षा विभाग: बिहार सरकार ने 23 जिलों के 113 विद्यालयों के प्रधानाध्यापक और कई अन्य पर कार्रवाई के लिए पत्र किया जारी, तीन दिनों में माँगा जवाब।

बिहार सरकार इस समय PFMS Web Portal के माध्यम से Advances बुक करने के मामले में हुई गड़बड़ी को लेकर काफी सख्त दिखाई दे रही है।

जिसके के लिए उसने सभी जिला के पी० एम० पोषण योजना कार्यक्रम पदाधिकारी को PFMS Web Portal के माध्यम से Advances बुक करने वाले प्रधानाध्यापक / प्रभारी प्रधानाध्यापक / प्रखण्ड साधन सेवी पर कार्रवाई करने के संबंध में आदेश भी जारी कर दिया है।

आदेश में क्या है खास

आदेश में कहा है कि निदेशालय पत्रांक 261 दिनांक 22.02.2022 के द्वारा PFMS Web Portal प्रणाली में विद्यालय के प्रधानाध्यापक / प्रभारी प्रधानाध्यापक Maker का कार्य एवं संबंधित प्रखण्ड के प्रखण्ड साधन सेवी द्वारा Cheker/ Data Approver का कार्य करेगें।

PFMS Web Portal प्रणाली के SNA 02 प्रतिवेदन के समीक्षा से स्पष्ट होता है कि 23 जिलों के 113 विद्यालयों द्वारा Expenditure के स्थान पर Advances में बुक किया गया है, जो कि वित्तीय नियम के विरूद्ध है।

आप अपने स्तर से सभी प्रधानाध्यापक / प्रभारी प्रधानाध्यापक एवं प्रखण्ड साधन सेवी को सख्त निदेश दें कि भविष्य में इस तरह की पुनरावृति नहीं की जाए।

3 दिनों में जवाब देना अनिवार्य

अतः सभी जिला कार्यक्रम पदाधिकारी, पी०एम०पोषण योजना को निदेश दिया जाता है कि इस पत्र के साथ संलग्न विद्यालयों द्वारा किस परिस्थित में Advances के रूप Vendor को भुगतान किया गया है।

चिन्हित विद्यालयों के प्रधानाध्यापक / प्रभारी प्रधानाध्यापक एवं संबंधित प्रखण्ड साधन सेवी से स्पष्टीकरण प्राप्त करते हुए समेकित प्रतिवेदन निदेशालय को तीन दिनों के अन्दर उपलब्ध कराना सुनिश्चित करेगें।

विभागीय आदेश पत्र

इसे भी पढ़ें >>>

सरकार ने तेजी से नौकरी-बहाली को लेकर उठाया कड़ा कदम, नीतीश ने मुख्य सचिव को दिया सख्त आदेश