अब कभी भी आएगी अकाउंट में सेलरी, बैंक बंद रहने के बावजूद रहें नौ टेन्शन।

अब कभी भी आएगी अकाउंट में सेलरी, बैंक बंद रहने के बावजूद रहें नौ टेन्शन।

अक्सर सुनने को मिलता है कि आज सैलरी मिलने वाली थी. लेकिन संडे होने की वजह से नहीं आएगी.

अब सैलरी के लिए एक दिन का और इंतजार करना पड़ेगा.

हालांकि कुछ कंपनियां संडे को देखते हुए एक दिन पहले ही कर्माचारियों के खाते में सैलरी भेज देती हैं.

दरअसल, अधिकतर प्राइवेट कंपनियों में कर्मचारियों को महीने के आखिरी तारीख को सैलरी दी जाती है.

लेकिन महीने की आखिरी तारीख संडे होने पर सैलरी एक दिन पहले या फिर एक दिन के बाद कर्मचारियों को मिलती हैं.

लेकिन अब इस झंझट से छुटकारा मिलने वाला है.

अब संडे हो या फिर किसी कारण से बैंक बंद, कर्मचारियों को सैलरी के लिए इंतजार नहीं करना पड़ेगा.

अब हफ्ते के सातों दिन सैलरी अकाउंट में डिपॉजिट होने की सुविधा उपलब्ध रहेगी. कंपनियां जब चाहेंगी, उस समय ही सैलरी का भुगतान कर सकती हैं.

भारतीय रिजर्व बैंक ने किया घोषणा 

भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने घोषणा की है कि बल्क पेमेंट सिस्टम नेशनल ऑटोमेटेड क्लियरिंग हाउस (NACH) अब 1 अगस्त 2021 से सप्ताह के सभी दिनों में उपलब्ध होगी.

अब NACH की सुविधा 24 घंटे सातों दिन मिलने से सैलरी का भुगतान और आसान हो जाएगा.

अब तक यह सुविधा सप्ताह के कार्यदिवस में ही उपलब्ध थी, यानी जिस दिन बैंक खुले होते थे, उसी दिन यह सुविधा उपलब्ध रहती थी.

NACH पेमेंट सिस्टम का इस्तेमाल खासतौर पर सैलरी, पेंशन, डिविडेंड पेमेंट, सब्सिडी जैसे जरूरी ट्रांसफर के लिए किया जाता है.

इस सुविधा का इस्तेमाल बल्क पेमेंट सिस्टम में होता है. एनएसीएच सर्विस को एनपीसीआई चलाता है.

एनएसीएच के जरिये इलेक्ट्रिसिटी, टेलीफोन, पानी, लोन की EMI, म्यूचुअल फंड SIP, बीमा प्रीमियम का भी भुगतान किया जाता है.

फिलहाल NACH डीबीटी के लिए एक लोकप्रिय और सुलभ माध्यम बनकर उभरा है. एनएसीएच सिस्टम दो तरह से काम करते हैं,

NACH डेबिट और एनएसीएच क्रेडिट. एनएसीएच क्रेडिट के जरिये कर्मचारियों को सैलरी का भुगतान किया जाता है.

जबकि NACH डेबिट के जरिये लोग बिजली-पानी के बिल का भुगतान करते हैं.